डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें...

डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें

अगर आप कोई व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो डिटर्जेंट पाउडर बनाने Detergent Powder Making Business का व्यवसाय आपके लिए बहुत लाभदायक और बाज़ार के जोखिम से सुरक्षित व्यवसाय हो सकता है। हर घर में कपड़े साफ़ करने के लिए डिटर्जेंट पाउडर का इस्तेमाल किया जाता है। अमीर हो, मध्यम वर्ग हो या गरीब, हर कोई अपने बजट के अनुसार डिटर्जेंट खरीदता है और उसका इस्तेमाल करता है। कई नामी ब्रांड अपने ब्रांड को स्थापित कर उसे विश्वसनीय बनाकर डिटर्जेंट का कारोबार कर रहे हैं। लेकिन कई नई कंपनियाँ भी गुणवत्ता वाले डिटर्जेंट बनाकर और मुनाफा कमाकर बहुत अच्छा कारोबार कर रही हैं। डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय आपके और बाज़ार के जोखिम-सुरक्षित व्यवसाय के लिए बहुत फायदेमंद है। हो सकती है। इस लेख में डिटर्जेंट पाउडर का व्यवसाय कैसे करें, डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय कैसे करें, इससे सम्बंधित सभी जानकारी प्रदान की गई है। आइए विस्तार से जानते हैं कि डिटर्जेंट पाउडर का व्यवसाय कैसे करें डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय के लिए आवश्यक सामग्री

Detergent Powder Making Business डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय में कुछ सामग्री की आवश्यकता होती है जिसके बारे में नीचे उल्लेख किया गया है:

  • एसिड घोल / लैबसा: बाज़ार में एसिड घोल की क़ीमत 70-80 लीटर है।
  • कास्टिक सोडा: बाज़ार में कास्टिक सोडा की लागत है 30-50 रुपये प्रति किलो।
  • AOS: AOS की क़ीमत बाज़ार में 35-50 किलोग्राम है।
  • सोडा ऐश: बाज़ार में इसकी क़ीमत 20-30 रुपये किलो है।
  • टीएसपी (ट्राई सोडियम फॉस्फेट): बाज़ार में इसकी क़ीमत 20-30 रुपये प्रति किलो है।
  • डीएमएक्स पाउडर: बाज़ार में इसकी क़ीमत 30-50 किलो है।
  • कैल्शियम कार्बोनेट पाउडर: बाज़ार में इसकी क़ीमत 2-10 रुपये प्रति किलो है।
  • जिओलाइट पाउडर: बाज़ार में इसकी क़ीमत 4-10 रुपए प्रति किलो है।
  • स्टार्च पाउडर: बाज़ार में इसकी क़ीमत 30-40 रुपए किलो है।
  • एसटीपीपी (सोडियम ट्रिपोली फास्फेट): बाज़ार में इसकी क़ीमत 60-70 रुपये किलो है।
  • डोलोमाइट पाउडर: बाज़ार में इसकी क़ीमत 1-5 किलो है।
  • नमक: बाज़ार में इसकी क़ीमत 5-10 रुपये प्रति किलो है।
  • एसएलएस पाउडर (सोडियम लोरियल सल्फेट): बाज़ार में इसकी क़ीमत 100-150 रुपये किलो है।
  • कलर ग्रेन्यूल्स: बाज़ार में इसकी क़ीमत 35-50 रुपये प्रति किलो है।
  • एसएलएस नूडल्स: बाज़ार में इसकी क़ीमत 150 रुपए प्रति किलो है।
  • सीबीएस-एक्स पाउडर: बाज़ार में इसकी क़ीमत 1300-1500 किलो है।
  • परफ्यूम: बाज़ार में इसकी क़ीमत 600 रुपए है।

नोट : डिटर्जेंट पाउडर Detergent Powder बनाने के लिए विभिन्न प्रकार के रसायनों का उपयोग किया जाता है और जब रसायनों को मिलाया जाता है, तो एक रासायनिक प्रतिक्रिया भी होती है, किसी भी प्रकार के नुक़सान से बचने के लिए इसे तैयार करते समय फेस मास्क और हाथ के दस्ताने का उपयोग किया जाता है। उपयोग करना सुनिश्चित करें।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के लिए लगनेवाली मशीनें

  • मिक्सर मशीन (Mixer Machine): डिटर्जेंट पाउडर बनाने के लिए विभिन्न प्रकार के रसायनों को मिलाने के लिए मिक्सर मशीन का उपयोग किया जाता है।
  • स्क्रीनिंग मशीन (Screening Machine): स्क्रीनिंग मशीन की मदद से मिक्सर मशीन में तैयार पाउडर को बारीक और सूखा बनाया जाता है ताकि यह पैकेजिंग और उपयोग के लिए उपयुक्त हो जाए।
  • पैकेजिंग / सीलिंग मशीन (Packaging / Sealing Machine): इस मशीन की सहायता से तैयार किए गए डिटर्जेंट को पैक करके सील कर दिया जाता है ताकि इसे बाज़ार में बेचा जा सके।
  • तौलने की मशीन (weighing machine): वज़न मापने के लिए तौलने की मशीन का उपयोग किया जाता है। इसे तौलकर आप अलग-अलग वज़न के पैकेट तैयार कर सकेंगे।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के लिए लगनेवाली मशीनों की कीमत

यदि आप बड़े पैमाने पर डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो पूरा सेटअप तैयार करने और अधिक बजट में मशीन खरीदने के लिए लगभग 4,00000 रुपये की आवश्यकता होगी। इसमें आपको डिटर्जेंट बनाने में इस्तेमाल होने वाली सभी मशीनों का एक सेट मिल जाएगा। लेकिन अगर आप छोटे पैमाने पर डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं और आपका बजट कम है तो आप 50,000 रुपये तक का डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय कर सकते हैं। लेकिन इसमें आपको पैकेजिंग मशीन अलग से खरीदनी होगी जिसकी क़ीमत करीब 25,000 रुपये है। यानी आप 75,000 रुपये की लागत से मशीन को छोटे पैमाने पर लगा सकते हैं।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने का तरीका

1. सबसे पहले की लबसा के नाम से भी जाना जाने वाला एसिड स्लरी तैयार किया जाता है।

2. उसके बाद सीबीएस-एक्स को पानी में अच्छी तरह मिला लें।

3. तैयार सीबीएस-एक्स मिश्रण प्रयोगशाला में जोड़ा जाता है।

4. मिक्सर मशीन में सोडा ऐश, नमक और डोलोमाइट मिलाया जाता है।

5. इसके बाद लैबसा और सीबीएस-एक्स का घोल मिक्सर मशीन में डाला जाता है।

6. इस घोल को मिक्सर में डालने के बाद, सीबीएस-एक्स और लैब्सा के घोल को मिक्सर मशीन में सोडा के साथ मिलाकर मशीन में अच्छी तरह मिलाया जाता है।

7. इस मिश्रण में एसएलएस पाउडर, परफ्यूम, सोडियम मेटासिलिकेट, डीएमएक्स पाउडर, कलर ग्रेन्यूल्स, सिलिका और अन्य सामग्री मिलाई जाती है और कुछ देर मिक्स करने के बाद इसे बाहर निकाल लिया जाता है।

8. इस मिश्रण को बारीक और सूखा बनाने के लिए एक स्क्रीनिंग मशीन में डाला जाता है।

9. स्क्रीनिंग मशीन से निकलने के बाद इस पाउडर को तोलने वाली मशीन से तौला जाता है और पैकेजिंग मशीन की मदद से अलग-अलग पाउच में पैक किया जाता है।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय के लिए लाइसेंस आवश्यक

Detergent Powder बनाने का Business (Detergent Powder Making Business) शुरू करने के लिए सबसे पहले कंपनी का रजिस्ट्रेशन करना होता है। कंपनी पंजीकरण एकमात्र स्वामित्व, साझेदारी फर्म, एलएलपी या प्राइवेट लिमिटेड। व्यवसाय में सरकारी सब्सिडी प्राप्त करने के लिए एसएसआई इकाई के तहत डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय को पंजीकृत करना आवश्यक है। कंपनी के नाम से एक बैंक खाता होना आवश्यक है जिसकी मदद से डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय से सम्बंधित लेनदेन किया जा सकता है। डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय (Detergent Powder Making Business) शुरू करने के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से 'स्थापना की सहमति' और संचालन की सहमति' की अनुमति लेना आवश्यक है क्योंकि इसमें कई प्रकार के रसायनों का उपयोग किया जाता है। उदाहरण के लिए, भारत में आपके पास बीआईएस पंजीकरण आईएस: 4955-1968 होना चाहिए। यह घरेलू उपयोग के लिए सिंथेटिक डिटर्जेंट पाउडर के लिए निर्दिष्ट है। अपने उत्पाद के ब्रांड नाम को सुरक्षित करने के लिए, इसके ट्रेडमार्क पंजीकरण की आवश्यकता है और स्थानीय नगरपालिका अधिकारी से व्यापार लाइसेंस प्राप्त करना आवश्यक है। वितरण नेटवर्क के लिए वितरण अनुबंध पत्र आवश्यक है और सरकारी लाभ और ऋण जैसी सुविधाओं के लिए, MSMEs उद्योग आधार पंजीकरण ले सकते हैं। जीएसटी पंजीकरण आवश्यक है। अगर आपके पास लाइसेंसिंग प्रक्रिया और रजिस्ट्रेशन से जुड़ी जानकारी है तो आप ख़ुद कर सकते हैं या ज़रूरत पड़ने पर किसी सीए की मदद ले सकते हैं।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.