मसाला बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें? जानें हिंदी में

how to start a spice making business in hindi
मसाला एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जिसका उपयोग न केवल भारत में बल्कि विदेशों में भी किया जाता है। हम भोजन को अधिक लज़ीज और स्वादिष्ट बनाने के लिए मसालों का उपयोग करते हैं। आमतौर पर, मसालों का इस्तेमाल हर घर में किया जाता है और इसे देखते हुए मसालों का व्यवसाय बहुत ही लाभदायक व्यवसाय है।

Spice Business Plan in Hindi

मसाला व्यवसाय क्या है? What is a Spice Business

यह एक तरह का लघु उद्योग है जिसे आप अपने घर से भी शुरू कर सकते हैं। इस व्यवसाय में, खड़े मसालों को बाज़ार से खरीदा जाता है और अलग-अलग प्रक्रिया द्वारा पीसने के बाद, इन मसालों को बाज़ार में पैक कर बेचा जाता है।

मसाला व्यवसाय के लिए लाइसेंस

मसाला व्यवसाय एक प्रकार का खाद्य व्यवसाय है। खाद्य पदार्थों से सम्बंधित लाइसेंस भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक (FASSI) संगठन द्वारा प्रदान किया जाता है। लाइसेंस पाने के लिए आपको फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड ऑफ इंडिया (FSSAI) की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

कुछ समय बाद यह संस्थान आपके मसालों के नमूनों की जाँच करेगा और यदि आपके मसालों की गुणवत्ता अच्छी है, तो आप एक लाइसेंस देंगे। लेकिन अगर आपके मास्लो की गुणवत्ता अच्छी नहीं है, तो यह आपका लाइसेंस भी रद्द कर सकता है।

मसालों के व्यवसाय के लिए आवश्यक स्थान

मसाला व्यवसाय एक तरह का लघु उद्योग है और आप इसे अपने घर से भी शुरू कर सकते हैं। इसके लिए कम से कम 200 से 300 वर्ग मीटर जगह होनी चाहिए क्योंकि मसाले को सुखाने, पीसने और पैक करने के लिए पर्याप्त जगह होनी चाहिए।

मसाला व्यवसाय में लागत

मसालों का कारोबार आमतौर पर बहुत कम होता है। क्योंकि यदि आप हाथ से मसालों का व्यवसाय शुरू करते हैं, तो यह बहुत काम का ख़र्च होगा। यदि आप मशीनें भी खरीदते हैं, तो लागत थोड़ी बढ़ जाती है, लेकिन हाथों से व्यवसाय शुरू करने में ज़्यादा ख़र्च नहीं होगा। आप लगभग 25-35 हज़ार के भीतर मशीन के बिना इस व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं। इसमें केवल कच्चे माल और पंजीकरण जैसे खर्चे के पैसे लगते हैं।

मसालों के व्यापार के लिए मशीनें

आपको मसालों के कारोबार की मशीनें ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से मिलेंगी। मसाला व्यवसाय की सभी मशीनों को खरीदने में लगभग 4 लाख का ख़र्च आता है। ये मशीनें इस प्रकार हैं:

मसाला चक्की-Spice grinder
ड्रायर-Dryer
बिजली संधारित्र-Power capacitor
विद्युत मोटर-Electric motor
सफाई कर्मी-The cleaner
बैग सीलर-Bag sealer

मसाले के कारोबार के लिए कच्चा माल और उसकी क़ीमत

मसाले के कारोबार में केवल कच्चे माल की ज़रूरत होती है जो बाज़ार में आसानी से उपलब्ध हैं। इस व्यापार के लिए कच्ची-कच्ची चीजें हल्दी, काली मिर्च, सूखी मिर्च, जीरा, धनिया आदि हैं, जबकि इन मसालों को खरीदते समय गुणवत्ता को देखते हुए खरीदें।

इन मसालों की क़ीमत इस प्रकार है:

सूखी मिर्च130 रुपये प्रति किलो
काली मिर्च500 रुपये प्रति किलोग्राम
धनिया150 रुपये प्रति किलो
जीरा200 रुपये प्रति किलोग्राम
सूखी हल्दी145 रुपये प्रति किलो

मसाला बनाने की प्रक्रिया

आमतौर पर घरों में इस्तेमाल होने वाले मसालों को मशीनों द्वारा पीस लिया जाता है। लेकिन अगर हाथ से तैयार मसाले ज़्यादा अच्छे माने जाते हैं। कई लोग यह भी मानते हैं कि मशीनों द्वारा तैयार मसालों की तुलना में हाथ से बने मसाले अधिक स्वादिष्ट और पौष्टिक होते हैं।

  • मसाला तैयार करने के लिए, पहले बाज़ार से खरीदे गए कच्चे माल को अच्छी तरह से साफ़ कर लें। ताकि उसमें गंदगी न रहे।
  • इसके बाद इन मसालों को धूप में रख दें ताकि ये खड़े मसाले अच्छे से सूख जाएँ।
  • इसके बाद, मसाले को मशीन या मोर्टार में पीस लिया जाता है।

मसाला पैकिंग

मसाले बेचने से पहले, उन्हें अपने ब्रांड नाम के पैकेट या डिब्बे में पैक करें। ताकि आपके मसालों को एक अलग पहचान मिल सके। पैकिंग के बाद, आप अपने ब्रांड के मसाले बाज़ार में बेच सकते हैं।

अपने मसालों की मार्केटिंग कैसे करें

आप अपने मसालों की मार्केटिंग कई तरह से कर सकते हैं
  • आप अपने मसालों को बेचने के लिए थोक व्यापारी के साथ सीधे व्यापार कर सकते हैं।
  • यदि आप चाहें, तो आप छोटे और खुदरा दुकानदारों के साथ अपने मसालों का व्यापार कर सकते हैं।
  • आप चाहें तो किसी कंपनी से ऑर्डर लेकर अपने ब्रांड के लिए मसाले भी तैयार कर सकते हैं।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई तो बेझिझक सोशल मीडिया पर शेयर करें। इसके अलावा रोज़ाना साइट विजेट करें और अपने व्यवसाय को शुरू करने और अच्छा लाभ कमाने के लिए अन्य लेख खोजें। यदि आपको कोई संदेह है, तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स का उपयोग करके इस लेख पर कमेंट कर हमें संकेत दें।

Post a Comment

0 Comments