जानिए ब्लड प्रेशर के कारण, लक्षण और उपाय

जानिए ब्लड प्रेशर के कारण, लक्षण और उपाय

नमस्कार दोस्तों, आज की इस पोस्ट हम आपको ब्लड प्रेशर की बीमारी के कारण, लक्षण और उसके इलाज़ के बारे में बताएँगे। ब्लड प्रेशर के मरीज़ों की तादाद आज के दौर में दिन ब दिन बढ़ती ही जा रही है। भागदौड़ भरी जिंदगी, फ़ास्ट फ़ूड और अनियमित जीवनशैली की वज़ह से हर उम्र के लोगों में ये बीमारी पायी जा रही है। ब्लड प्रेशर की बीमारी वैसे तो काफ़ी साधारण लगती है, लेकिन समय रहते इसका इलाज़ ना कराया जाये तो ये हार्ट अटैक, ब्रेन हैमरेज और गुर्दे की बीमारी का कारण बन सकती है।

हमारा दिल नसों में खून का मूवमेंट करता है और ये इतने फ़ोर्स से मूवमेंट करता है कि ये पूरे शरीर में फ़ैल सके, इसे ही ब्लड प्रेशर कहते हैं। ब्लड प्रेशर का कम होना या ज़्यादा होना दोनों ही शरीर के लिए घातक हैं। मेडिकल लैंग्वेज में इसे हाइपरटेंशन कहते हैं और ये साइलेंट किलर के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि कई लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की दिक्कत होती है लेकिन उन्हें इसका पता भी नहीं होता।

ब्लड प्रेशर के कारण-Causes of Blood Pressure

हाई ब्लड प्रेशर के 90% मामलों में ब्लड प्रेशर के कारणों का पता नहीं चल पाता। हाई ब्लड प्रेशर के कारण बताना मुश्किल है। हाई ब्लड प्रेशर अनुवांशिक कारण या बढ़ती हुई उम्र की वज़ह से हो सकता है। वहीँ महिलाओं में पुरुषों के मुक़ाबले ये रोग होने की ज़्यादा संभावना होती है। इसके साथ ही मोटापा बढ़ने, सोडियम की मात्रा अधिक होने से, शराब का ज़्यादा सेवन करने से, या शारीरिक एक्टिविटी ना होने की वज़ह से ब्लड प्रेशर ज़्यादा हो सकता है।

हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण-Symptoms of High Blood Pressure

हाई ब्लड प्रेशर के कुछ ख़ास लक्षण नहीं होते और इसे साइलेंट किलर कहा जाता है। जब ये एकदम से बढ़ जाता है तो रोगी को इसके बारे में पता चलता है। ज़्यादा प्रेशर बढ़ जाने पर सिर में दर्द, चक्कर आना, धुंधला दिखना, उलटी आने जैसा लगना या सीने में दर्द होने की शिकायत हो सकती है।

ब्लड प्रेशर का इलाज़-Treatment of Blood Pressure

ब्लड प्रेशर के इलाज़ के सबसे पहले आपको इसके कारणों का पता लगाना होगा और उनका रोकथाम करना होगा। अगर आपको मोटापे की वज़ह से ब्लड प्रेशर है तो मोटापा कम करने की कोशिश कीजिये, इसके लिए आप एक्सरसाइज कजिये, शराब का इस्तेमाल ना कीजिये। कई रिसर्चों में ये पाया गया है कि हर दिन 30 मिनट की शारीरिक एक्टिविटी आपकी इस बीमारी का इलाज़ कर सकती है। वहीँ इसका रेगुलर चेक अप आपको करते रहना चाहिए। सोडियम की डाइट पर आपको नियंत्रण करना चाहिए। ब्लड प्रेशर की बीमारी को कम करने के लिए जंक फ़ूड क इस्तेमाल बंद करना होगा।

3 टिप्स जो ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए-Top 3 Tips for Control Your Blood Pressure

ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए ये 3 टिप्स बहुत ही काम की हैं। पहली टिप्स है, ब्लड प्रेशर के मरीजों को सीढ़ियों का प्रयोग करना होगा, रोज़ाना एक्सरसाइज करना, दिल को सेहतमंद रखने के लिए अच्छा होता है। ऑफिस में आप लिफ्ट का इस्तेमाल ना कर सीढ़ियों का इस्तेमाल करना शुरू कर दें। दूसरी टिप्स है, अपना गुस्सा कम करें। वैसे भी गुस्सा जानलेवा हो सकता है। स्ट्रेस को दूर करने की आपको हर मुमकिन कोशिश करनी चाहिए। आप मैडिटेशन और योगा का भी सहारा ले सकते हैं। गुस्सा करने से ब्लड प्रेशर और स्ट्रेस बढ़ जाता है। हार्ट अटैक के 90% केस स्ट्रेस के कारण होते हैं। तीसरी टिप्स है, नशीली चीज़ों का इस्तेमाल बंद कर दें। बहुत ज़्यादा मात्रा में नशीली चीज़ों का इस्तेमाल करने से ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है, जिससे आगे जा कर वज़न बढ़ता है और हार्ट अटैक की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए ब्लड प्रेशर की बीमारी से बचने के लिए नशीली चीज़ों का इस्तेमाल बिलकुल बंद कर दीजिए।

हाई ब्लड प्रेशर को कैसे कण्ट्रोल करें-How to Control High Blood Pressure

1) नींबू पानी: हाई ब्लड प्रेशर होने पर नींबू का पानी (Lemonade) काफ़ी फायदेमंद होता है। जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी होती है, उन्हें सुबह खाली पेट 1 गिलास गुनगुने पानी में आधा नींबू निचोड़कर पीना चाहिए। या फिर दोपहर के खाने के बाद 1 गिलास नींबू का पानी पीना चाहिए।

2) लहसुन: लहसुन (Garlic) यानी गारलिक नाइट्रिक ऑक्साइड और हाइड्रोजन सल्फाइट को बढ़ा कर ब्लड वेसल को रिलैक्स करने में मदद करता है। ये खून में थक्का नहीं जमने देता और कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित रखता है। ब्लड प्रेशर के रोगियों को अपने खाने में ज़्यादा से ज़्यादा लहसुन इस्तेमाल करना चाहिए।

3) केले: केले (Bananas) में पोटैशियम की काफ़ी मात्रा पायी जाती है, जो शरीर में सोडियम की इफ़ेक्ट को कम करता है और साथ में ये हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मदद करता है। जिनको हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी हो उन्हें रोज़ाना एक या दो केले ज़रूर खाने चाहिए।

4) नारियल पानी: हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने के लिए नारियल पानी (Coconut Water) बहुत फायदेमंद है। ये सिस्टोलिक दाब को कम करता है, इसके लिए दिन में एक बार नारियल पानी ज़रूर पीना चाहिए। खाली पेट पानी पिने से ज़्यादा फायदा मिलता है।

लो ब्लड प्रेशर को कैसे कण्ट्रोल करें-How to Control Low Blood Pressure

1) शकरकंद: शकरकंद (Sweet Potato) जिसे स्वीट पोटैटो भी कहा जाता है। लो ब्लड प्रेशर की प्रॉब्लम हो जाने पर शकरकंद बहुत ही बढ़िया उपाय है। दिन में दो बार एक कप शकरकंद का जूस ज़रूर पीना चाहिए।

2) तुलसी: जिन लोगों को लो ब्लड प्रेशर की बीमारी रहती है उन्हें 10 से 15 तुलसी (Basil) के पत्ते लेकर उसे पीस कर उसका रस निकाल कर उसमे एक चम्मच शहद के साथ खाली पेट लेना चाहिए। इससे लो ब्लड प्रेशर में काफ़ी फायदा होता है।

3) बादाम: रात को 7 बादाम (Almond) भिगोएँ, सुबह उसके छिलके निकाल कर पीस लीजिए और थोड़ी देर दूध में उबाल कर उसे गुनगुना करके पी लीजिए। इससे लो ब्लड प्रेशर में काफ़ी फायदा होता है।

4) कॉफ़ी: कॉफ़ी (Coffee) में कैफीन की काफ़ी मात्रा होती है, जो लो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में काफ़ी मदद करती है। ये लो ब्लड प्रेशर को बहुत तेज़ी से बढ़ा देता है। हाई ब्लड प्रेशर के रोगियों को इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। लेकिन लो ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए काफ़ी फायदेमंद होती है।

दोस्तों ये कुछ घरेलु उपाय हैं जिन्हे अपना कर आप ब्लड प्रेशर की बीमारी को नियंत्रित कर सकते हैं। अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो प्लीज कमेंट कर बताएँ और अपने दोस्त, रिश्तेदारों के साथ शेयर करें।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.